#जीवन शैली

lalit Netam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए lalit जी का जवाब
Unknown
2:31
वह कौन सा अपराध है जिसे करने के बाद स्वयं भगवान और गुरु भी अपने आप को नहीं बचा पा तो फिर भी इंसान उसे हंसी-खुशी करते हैं का जवाब है आप बोल रहे हो कि कोई अपराध लिखिए कोई अपराध भगवान नहीं करता एक बात आपको क्लियर कर दो हम सभी कौन है हम सभी की आत्मा है और आत्मा शरीर में धारण करने की सभी को शांति हम सभी रात में यही सभी को चलाने वाले आत्मा ठीक है तो हम इस शरीर के माध्यम से कर्म कर रहे हैं ठीक है और इसे ही को चला रहे हैं आप परमात्मा यानी कि भगवान तू हो ना ही जन्म लेते हैं ना ही उसकी मृत्यु होती है इसीलिए तो हम उसे परमपिता परमात्मा के परम हाथों मतलब दीदा नाथ की जन्म होती ना ही मृत्यु होती तो भगवान अपराध क्यों करेगा भाई भगवान तो मास्टर सर्वशक्तिमान है भगवान ना ही जन्म लेते हैं ना ही मृत्यु होती उसकी अपराध कैसे करेंगे आप ही बताओ आप हो जो सवाल है वह गलत लग रहा है ठीक है अभी आप बोल रहे हो कि कोई अपराधी से बचा नहीं पाता मैं आपको बता दूं इस धरती पर आप जो भी कर्म करोगे उसका फल आपको मिलेगा ही मिलेगा यह निश्चित है चाहे इस दिन में मिले उसका फल या फिर अगले जन्म में आपको भुगतना ही पड़ेगा यह संसार का नियम है जैसा कर्म करोगे वैसा आपको फल मिलेगा ही मिलेगा ठीक है इसमें आपको कोई नहीं बचा सकता यह हंड्रेड परसेंट शुरू है आप जो भी कर्म किए थे पूछ लेना मैं उसका फल आप इस जन्म में भुगत रहे हो और आप इस जन्म में जो भी कर्म करो उसका फल आपको मिलेगा ही मिलेगा यह हंड्रेड परसेंट ट्रू है रियल है दुनिया का नियम है आप मेरी जान लीजिए और आप बोलो कोई बचा नहीं सकता भगवान भी नहीं बचा पाए तुझे सुखी संसार का नियम है कि आप जैसा कर्म करेगा वैसा फल मिलेगा ही मिले हर चीज का फल मिलता है हम पर ठीक है दुनिया है भैया संसार है जो चलता है और आप बोलो पर अपराध अपराध जैसे कि आप दूसरों का बुरा करते हो या फिर हत्या करते हुए चोरी करते हो तो यह अगर आप दूसरों के घर में चोरी करोगे तो एक न एक दिन आपके घर में चोरी होगी यह होता ही है कि जैसा कर्म करेगा वैसा फल मिलेगा अगर आप किसी को कोई भी का अब कोई भी घटना ले लो ठीक है अगर आप किसी से कर्ज ले लेते हो या फिर किसी को धोखा दे देते हो तो कोई आपको धोखा दे देगा ऐसा होता है इस दुनिया में एक जैसा कर्म करेगा वैसा फल मिले आप यह बात याद रख लीजिए और आप राज जैसा प्राप्त करें वैसे आपको फल भुगतना पड़ेगा या रहिएगा ठीक है तू जैसा कर्म करते हैं वैसा फल मिलेगा यह बात याद रखें और भगवान अपराध नहीं करते भाई गुरु भाई गुरु मतलब आप बोलो गुरु जो आपको गाइड करते हैं
Vah kaun sa aparaadh hai jise karane ke baad svayan bhagavaan aur guru bhee apane aap ko nahin bacha pa to phir bhee insaan use hansee-khushee karate hain ka javaab hai aap bol rahe ho ki koee aparaadh likhie koee aparaadh bhagavaan nahin karata ek baat aapako kliyar kar do ham sabhee kaun hai ham sabhee kee aatma hai aur aatma shareer mein dhaaran karane kee sabhee ko shaanti ham sabhee raat mein yahee sabhee ko chalaane vaale aatma theek hai to ham is shareer ke maadhyam se karm kar rahe hain theek hai aur ise hee ko chala rahe hain aap paramaatma yaanee ki bhagavaan too ho na hee janm lete hain na hee usakee mrtyu hotee hai iseelie to ham use paramapita paramaatma ke param haathon matalab deeda naath kee janm hotee na hee mrtyu hotee to bhagavaan aparaadh kyon karega bhaee bhagavaan to maastar sarvashaktimaan hai bhagavaan na hee janm lete hain na hee mrtyu hotee usakee aparaadh kaise karenge aap hee batao aap ho jo savaal hai vah galat lag raha hai theek hai abhee aap bol rahe ho ki koee aparaadhee se bacha nahin paata main aapako bata doon is dharatee par aap jo bhee karm karoge usaka phal aapako milega hee milega yah nishchit hai chaahe is din mein mile usaka phal ya phir agale janm mein aapako bhugatana hee padega yah sansaar ka niyam hai jaisa karm karoge vaisa aapako phal milega hee milega theek hai isamen aapako koee nahin bacha sakata yah handred parasent shuroo hai aap jo bhee karm kie the poochh lena main usaka phal aap is janm mein bhugat rahe ho aur aap is janm mein jo bhee karm karo usaka phal aapako milega hee milega yah handred parasent troo hai riyal hai duniya ka niyam hai aap meree jaan leejie aur aap bolo koee bacha nahin sakata bhagavaan bhee nahin bacha pae tujhe sukhee sansaar ka niyam hai ki aap jaisa karm karega vaisa phal milega hee mile har cheej ka phal milata hai ham par theek hai duniya hai bhaiya sansaar hai jo chalata hai aur aap bolo par aparaadh aparaadh jaise ki aap doosaron ka bura karate ho ya phir hatya karate hue choree karate ho to yah agar aap doosaron ke ghar mein choree karoge to ek na ek din aapake ghar mein choree hogee yah hota hee hai ki jaisa karm karega vaisa phal milega agar aap kisee ko koee bhee ka ab koee bhee ghatana le lo theek hai agar aap kisee se karj le lete ho ya phir kisee ko dhokha de dete ho to koee aapako dhokha de dega aisa hota hai is duniya mein ek jaisa karm karega vaisa phal mile aap yah baat yaad rakh leejie aur aap raaj jaisa praapt karen vaise aapako phal bhugatana padega ya rahiega theek hai too jaisa karm karate hain vaisa phal milega yah baat yaad rakhen aur bhagavaan aparaadh nahin karate bhaee guru bhaee guru matalab aap bolo guru jo aapako gaid karate hain

और जवाब सुनें

Laxmi devi sant Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Personal Life guidance session book Appointment ID - discoveryourjourney23@gmail.com
1:35
प्रश्न है वह कौन सा अपराध है जिसे करने के बाद स्वयं भगवान और गुरु भी अपने आप को नहीं बचा पाते फिर भी इंसान उसे हंसी-खुशी करता है और वह है नारी का अपमान जी हां दोस्तों इस धरती का जीवन ही नारी से हुआ है हमारे जितने भी इष्ट देवता है उस सभी का जो एक नई सुबह एक नारी का गण अपमान करेंगे तो आपको सजा तो मिलनी है भले ही आपको याद रहे या ना रहे जो आपको तकलीफ हो रही है किसी एक नारी के थ्रू तकलीफ हो रही तो कहीं ना कहीं आपने किसी न किसी नारी के साथ ऐसा दुर्व्यवहार किया होगा किसी ना किसी बॉडी में आकर ठीक है कि कि आप सब सोए हैं और 16 से बॉडी चेंज करती है स्कूल कान्हा जन्म हुआ या नहीं उसकी कभी मृत्यु हो सकती है तो किसी भी बॉडी में आकर आपने कभी भी किसी भी नारी का अपमान किया हूं तो आप को सजा मिलेगी और कहते हैं ना एक बारी से ही का जन्म हुआ है तो उस नारी का सम्मान करो किसी एक नारी का अगर आपने सम्मान किया तो आपने बहुत पुन्य का काम किया ठीक है तो यही है कि आज के जमाने में जो मानव है वह हंसी-खुशी नारी का अपमान करते हैं सड़क बातें भूल जाते हैं कि अपनी साड़ी कर्मों की सजा वह भुगतेगी भले ही अभी हम पर आने वाले कुछ वर्षों में भुगतना शुरू कर देते हैं थैंक यू सो मच
Prashn hai vah kaun sa aparaadh hai jise karane ke baad svayan bhagavaan aur guru bhee apane aap ko nahin bacha paate phir bhee insaan use hansee-khushee karata hai aur vah hai naaree ka apamaan jee haan doston is dharatee ka jeevan hee naaree se hua hai hamaare jitane bhee isht devata hai us sabhee ka jo ek naee subah ek naaree ka gan apamaan karenge to aapako saja to milanee hai bhale hee aapako yaad rahe ya na rahe jo aapako takaleeph ho rahee hai kisee ek naaree ke throo takaleeph ho rahee to kaheen na kaheen aapane kisee na kisee naaree ke saath aisa durvyavahaar kiya hoga kisee na kisee bodee mein aakar theek hai ki ki aap sab soe hain aur 16 se bodee chenj karatee hai skool kaanha janm hua ya nahin usakee kabhee mrtyu ho sakatee hai to kisee bhee bodee mein aakar aapane kabhee bhee kisee bhee naaree ka apamaan kiya hoon to aap ko saja milegee aur kahate hain na ek baaree se hee ka janm hua hai to us naaree ka sammaan karo kisee ek naaree ka agar aapane sammaan kiya to aapane bahut puny ka kaam kiya theek hai to yahee hai ki aaj ke jamaane mein jo maanav hai vah hansee-khushee naaree ka apamaan karate hain sadak baaten bhool jaate hain ki apanee sari karmon kee saja vah bhugategee bhale hee abhee ham par aane vaale kuchh varshon mein bhugatana shuroo kar dete hain thaink yoo so mach

Yogi Nath Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Yogi जी का जवाब
Unknown
2:52
नमस्कार गीता में भगवान श्रीकृष्ण ने स्वयं एक वाक्य कहा था कि अगर हे अर्जुन उस पक्ष में अगर मैं खुद होता तो यहां तक कि मैं जो ब्रह्मांड की सबसे बड़ी शक्ति है सृष्टि कर्ता है उसका भी विध्वंस हो जाता है अर्थात कहने का मतलब है यह उस समय उन्होंने कहा था जब महाभारत के युद्ध में धर्म और अधर्म के पक्ष की बात हो रही थी तो बहुत से ऐसे योद्धा थे बहुत अच्छे अच्छे लोग थे जो कौरवों की तरफ से दरअसल को कौरव का साइड नहीं था वह अधर्म का साइड था और जो अर्जुन के साइड था वह धर्म का साइड था तो उन्होंने कहा कि अर्जुन ने कितने बड़े बड़े योद्धा जब उस पक्ष में तो इन्हें कैसे तरह से इनका विध्वंस कैसे हो सकता है कि कैसे इन का विनाश किया जा सकता है इन को कैसे हराया जा सकता है इन को कैसे मारा जा सकता है तो उन्होंने कहा देखो जो भी व्यक्ति धर्म के रास्ते पर चलता है उसका विध्वंस निश्चित है उसका अंत निश्चित है चाहे वह कोई भी हो उस पक्ष में भीष्म पितामह थे करंट जैसे अच्छे दानवीर योद्धा थे पराक्रमी गुरु द्रोणाचार्य थे तो जैसे कि आपने प्रश्न क्या है कि कौन सा अपराध है जिसके कारण स्वयं गुरु और भगवान अपने आप को नहीं बचा पाते तो यह धर्म धर्म का धर्म अगर कोई भी करेगा अधर्म के रास्ते में कोई भी चलेगा ही शुरू से आप देख सकते हैं मैं आकर एक बार जब भगवान विष्णु जी ने आज जालंधर को हराने के लिए मारने के लिए जो तुम सीधी थी उनकी उनके पति के रूप धर के उनके पास आए थे तो उन्होंने श्राप दिया था उनको कि वह पत्थर के बन जाएंगे और बाकी वह पत्थर के बन गए थे फिर बाद में सृष्टि को चलाएं मन बनाने के लिए उन्होंने अपना सारा वापस लिया और वह तुलसी और भगवान हरि शालिग्राम के रूप में एक नया उन्होंने मैसेज दिया एक ने अपहरण किया तुझे बहुत सी बातें हैं बहुत सी चीजें हैं जो आप देखेंगे जब भी कोई व्यक्ति या धर्म के रास्ते पर चलता वह चाहे कितनी भी बड़ी ताकत करो उसका विध्वंस जरूर होगा उसका विनाश कब होगा एवं सोसाइटी बातें आप सभी श्रोताओं अपने जीवन में जरूर लाएं और धर्म के रास्ते पर चलें क्योंकि जीवन में इंसान इस चीज को बहुत जल्दी आ धर्म करने लगता है चाहे कोई भी चीज हल्की सी लापरवाही हल्का सा स्वार्थ जॉब मिलता है उसके कारण वह अपने आप को धर्म के रास्ते पर झोंक देता है सी खुशी हुई है नहीं फिक्र करता क्या फिर इसके बाद उसका परिणाम क्या होगा आयोग 100 बैटरी पोस्ट आपके लिए हेल्पफुल और आपको अच्छा लगा तो लाइक जरूर करें कमेंट जरूर करें कैसा लगा इस पोस्ट के बारे में अपनी राय विचार जरूर बताएं हमसे जुड़ने के लिए हमारे सवाल जवाब को सुनने के लिए हमारे प्रोफाइल पेज को फॉलो कर सकते हैं
Namaskaar geeta mein bhagavaan shreekrshn ne svayan ek vaaky kaha tha ki agar he arjun us paksh mein agar main khud hota to yahaan tak ki main jo brahmaand kee sabase badee shakti hai srshti karta hai usaka bhee vidhvans ho jaata hai arthaat kahane ka matalab hai yah us samay unhonne kaha tha jab mahaabhaarat ke yuddh mein dharm aur adharm ke paksh kee baat ho rahee thee to bahut se aise yoddha the bahut achchhe achchhe log the jo kauravon kee taraph se darasal ko kaurav ka said nahin tha vah adharm ka said tha aur jo arjun ke said tha vah dharm ka said tha to unhonne kaha ki arjun ne kitane bade bade yoddha jab us paksh mein to inhen kaise tarah se inaka vidhvans kaise ho sakata hai ki kaise in ka vinaash kiya ja sakata hai in ko kaise haraaya ja sakata hai in ko kaise maara ja sakata hai to unhonne kaha dekho jo bhee vyakti dharm ke raaste par chalata hai usaka vidhvans nishchit hai usaka ant nishchit hai chaahe vah koee bhee ho us paksh mein bheeshm pitaamah the karant jaise achchhe daanaveer yoddha the paraakramee guru dronaachaary the to jaise ki aapane prashn kya hai ki kaun sa aparaadh hai jisake kaaran svayan guru aur bhagavaan apane aap ko nahin bacha paate to yah dharm dharm ka dharm agar koee bhee karega adharm ke raaste mein koee bhee chalega hee shuroo se aap dekh sakate hain main aakar ek baar jab bhagavaan vishnu jee ne aaj jaalandhar ko haraane ke lie maarane ke lie jo tum seedhee thee unakee unake pati ke roop dhar ke unake paas aae the to unhonne shraap diya tha unako ki vah patthar ke ban jaenge aur baakee vah patthar ke ban gae the phir baad mein srshti ko chalaen man banaane ke lie unhonne apana saara vaapas liya aur vah tulasee aur bhagavaan hari shaaligraam ke roop mein ek naya unhonne maisej diya ek ne apaharan kiya tujhe bahut see baaten hain bahut see cheejen hain jo aap dekhenge jab bhee koee vyakti ya dharm ke raaste par chalata vah chaahe kitanee bhee badee taakat karo usaka vidhvans jaroor hoga usaka vinaash kab hoga evan sosaitee baaten aap sabhee shrotaon apane jeevan mein jaroor laen aur dharm ke raaste par chalen kyonki jeevan mein insaan is cheej ko bahut jaldee aa dharm karane lagata hai chaahe koee bhee cheej halkee see laaparavaahee halka sa svaarth job milata hai usake kaaran vah apane aap ko dharm ke raaste par jhonk deta hai see khushee huee hai nahin phikr karata kya phir isake baad usaka parinaam kya hoga aayog 100 baitaree post aapake lie helpaphul aur aapako achchha laga to laik jaroor karen kament jaroor karen kaisa laga is post ke baare mein apanee raay vichaar jaroor bataen hamase judane ke lie hamaare savaal javaab ko sunane ke lie hamaare prophail pej ko pholo kar sakate hain

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:45
आपका प्रश्न पत्र जारी करने के बाद चैन भगवान और गुरु भी अपने आप को नहीं बचा पा थी फिर भी इंसान से करता है मुझसे एक नारी का अपमान करना एक औरत का औरत की बेजती करते हैं तो उसका दंड में जरूरत पड़ेगी तो नहीं करते हैं और कभी न कभी उसका परिणाम आपको जरूर बोलना पड़ेगा और कोई है जैसे कि किसी का दिल दुखाना झूठ बोलने में किसी की हत्या करना है ये सब बात है भगवान भी नहीं बचा सकती है इसका परिणाम हमें भोगना ही पड़ता है धन्यवाद
Aapaka prashn patr jaaree karane ke baad chain bhagavaan aur guru bhee apane aap ko nahin bacha pa thee phir bhee insaan se karata hai mujhase ek naaree ka apamaan karana ek aurat ka aurat kee bejatee karate hain to usaka dand mein jaroorat padegee to nahin karate hain aur kabhee na kabhee usaka parinaam aapako jaroor bolana padega aur koee hai jaise ki kisee ka dil dukhaana jhooth bolane mein kisee kee hatya karana hai ye sab baat hai bhagavaan bhee nahin bacha sakatee hai isaka parinaam hamen bhogana hee padata hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • वह कौन सा अपराध है जिसे करने के बाद स्वयं भगवान और गुरु भी अपने आप को नहीं बचा पाते, इंसान हंसी-खुशी अपराध करता है ऐसा क्यों
URL copied to clipboard