Amit singh baghel Bolkar

Amit singh baghel



वो दिलों में आग लगाएगा मैं दिलों की आग बुझाऊंगा उसे अपने काम से काम है मुझे अपने काम से काम है

142989
बार सुना गया

935
Subscribers


Author Highlights
  अपने हर सपने को सांसों में रखों अपनी हर मंजिल को अपनी बाहों में रखों हर जीत आपकी होगी बस अपने लक्ष्य को अपनी आँखों में रखों

  बीएससी हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट, लखनऊ

  उत्तर प्रदेश, जिला- रायबरेली, पिन कोड- 229001


क्या यह सच है कि जब बच्चे अपनी मां का आदर करते हैं तो वह अपने आप को महान महसूस करती है?
Amit singh baghel photo Amit singh baghel -अपने हर सपने को सांसों में रखों अपनी हर मंजिल को अपनी बाहों में रखों हर जीत आपकी होगी बस अपने लक्ष्य को अपनी आँखों में रखों


Share via Whatsapp     Share via Facebook
शिवलिंग पर रोजाना हजारों लीटर दूध की बर्बादी को आप कैसे उचित ठहराते हैं?
Amit singh baghel photo Amit singh baghel -अपने हर सपने को सांसों में रखों अपनी हर मंजिल को अपनी बाहों में रखों हर जीत आपकी होगी बस अपने लक्ष्य को अपनी आँखों में रखों


Share via Whatsapp     Share via Facebook
एक इंसान के लिए सबसे खुशी की बात क्या होती है?
Amit singh baghel photo Amit singh baghel -अपने हर सपने को सांसों में रखों अपनी हर मंजिल को अपनी बाहों में रखों हर जीत आपकी होगी बस अपने लक्ष्य को अपनी आँखों में रखों


Share via Whatsapp     Share via Facebook
कहा जाता है कि चीन के साथ 1962 के युद्ध में नेहरू जी ने चीनियों को पहचानने में गलती कर दी थी । क्या मोदी जी ने भी वही गलती 2020 में कर दी है?
Amit singh baghel photo Amit singh baghel -अपने हर सपने को सांसों में रखों अपनी हर मंजिल को अपनी बाहों में रखों हर जीत आपकी होगी बस अपने लक्ष्य को अपनी आँखों में रखों


Share via Whatsapp     Share via Facebook
अगर पैसे से खुशी नहीं खरीदी जा सकती तो हम पैसा कमाने के लिए इतनी मेहनत क्यों करते हैं?
Amit singh baghel photo Amit singh baghel -अपने हर सपने को सांसों में रखों अपनी हर मंजिल को अपनी बाहों में रखों हर जीत आपकी होगी बस अपने लक्ष्य को अपनी आँखों में रखों


Share via Whatsapp     Share via Facebook
क्या बता सकते हैं कि रेलवे स्टेशन के बोर्ड में क्यों लिखा होता है 'समुद्र ताल से ऊंचाई'?
Amit singh baghel photo Amit singh baghel -अपने हर सपने को सांसों में रखों अपनी हर मंजिल को अपनी बाहों में रखों हर जीत आपकी होगी बस अपने लक्ष्य को अपनी आँखों में रखों


Share via Whatsapp     Share via Facebook
क्या आपके मन में कभी खुदकुशी का विचार आया?
Amit singh baghel photo Amit singh baghel -अपने हर सपने को सांसों में रखों अपनी हर मंजिल को अपनी बाहों में रखों हर जीत आपकी होगी बस अपने लक्ष्य को अपनी आँखों में रखों


Share via Whatsapp     Share via Facebook
छोटे बच्चे इतनी प्यारी क्यों लगते हैं?
Amit singh baghel photo Amit singh baghel -अपने हर सपने को सांसों में रखों अपनी हर मंजिल को अपनी बाहों में रखों हर जीत आपकी होगी बस अपने लक्ष्य को अपनी आँखों में रखों


Share via Whatsapp     Share via Facebook
परिवार से दूर रहने के बाद आपने कौन सी बातें सीखी हैं?
Amit singh baghel photo Amit singh baghel -अपने हर सपने को सांसों में रखों अपनी हर मंजिल को अपनी बाहों में रखों हर जीत आपकी होगी बस अपने लक्ष्य को अपनी आँखों में रखों


Share via Whatsapp     Share via Facebook
क्या बदलाव हर किसी के जीवन मै जरूरी होता?
Amit singh baghel photo Amit singh baghel -अपने हर सपने को सांसों में रखों अपनी हर मंजिल को अपनी बाहों में रखों हर जीत आपकी होगी बस अपने लक्ष्य को अपनी आँखों में रखों


Share via Whatsapp     Share via Facebook

Listen to Amit singh baghel answers on Bolkar App.
Amit singh baghel is a creator on Bolkar app. Follow Amit singh baghel on Bolkar app either by searching Amit singh baghel or by vising this link with Bolkar app installed